खांसी का इलाज जड़ से करने के 10 घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

खांसी का घरेलू इलाज उपाय : हर किसी को कभी न कभी खांसी होती रहती हैं खासकर मौसम में बदलाव होने पर खांसी हो जाती हैं। पर जब ये कई दिनों तक लगातार रहने लगे तो पुरानी खांसी का उपचार करना जरुरी बन जाता हैं। गले में संक्रमण या किसी वजह से रुकावट जब बनती हैं तो हमारा दिमाग बॉडी को खांसने के जरिये उस रुकावट को दूर करने के संकेत देता हैं। खासी 2 प्रकार की होती हैं सुखी और बलगम वाली खांसी। वैसे तो खांसी से छुटकारा पाने के लिए कई तरह की अंग्रेजी और देसी दवा मिल जाती हैं। लेकिन बिना पैसे खर्च किये भी घर में तैयार किये घरेलू नुस्खे और देसी टोटके से खांसी का इलाज किया जा सकता हैं जो आप निचे जनोंगे।

गले में खराश और सांस लेने में तकलीफ होना खांसी होने का कारण बनता हैं। आयुर्वेद के अनुसार पित्त और कफ का बढ़ना ही सूखी खांसी की असल वजह होती हैं।

बलगम वाली खांसी तब बनती हैं जब सांस लेने के मार्ग में बलगम का कोई और तरल जैम जाए। लम्बे समय तक चली बलगम खांसी कई साँस की बीमारियों जैसे की निमोनिया, टीबी, अस्थमा और ब्रोंकाइटिस के लक्षण के रूप में सामने आ सकती हैं। ज्यादा दिनों तक चली ऐसे खांसी से छाती में दर्द भी हो सकता हैं।

खांसी का देसी इलाज के नुस्खे उपाय khansi ka ilaj

सूखी और बलगम वाली खांसी का इलाज

Home Remedies for Cough in Hindi

1. हल्दी लहसुन और दूध

खांसी का देसी इलाज करने में हल्दी ख़ास घरेलू उपाय हैं। जिसके परिणाम आपको जल्दी ही मिल जाते हैं। हल्दी में गाव भरने की शक्ति होने के साथ एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं गले के इन्फेक्शन को ख़त्म करने का काम करते हैं। इसके साथ में लहसुन का सेवन टोंसिल और गले में खराश को दूर करने में काम आता हैं।

एक गिलास दूध में एक लहसुन की कली डालकर उबाले और उसमे एक चुटकी हल्दी की मिलाये। इस हल्दी और लहसुन मिले दूध को गर्म ही पिए। लहसुन की जगह आप अदरक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं दोनों इस घरेलू नुस्खे में एक सामान असरदार होते हैं।

2. अनानास जूस

अनानास में मौजूद ब्रोमेलेन सांस श्वसन मार्ग में होने वाली सूजन को कम करता हैं जो खांसी के उपचार के लिए जरुरी होता हैं। नाक और छाती में जमा जमी बलगम ख़त्म करने में भी अनानास से मदद मिलती हैं।

इस रेमेडी को तैयार करने के लिए हमें अनानास जूस के साथ, शहद, नमक और काली मिर्च पाउडर की जरुरत पड़ेगी। 250 ml अनानास जूस में 1-2 चमच्च शहद, एक चुटकी नमक और उतनी ही काली पिसी काली मिर्च डालकर मिलाए।

3. सेब सिरका

गले में होने वाली खराश और इन्फेक्शन ख़त्म करने के लिए सेब का सिरका कारगर घरेलू उपाय हैं। ये एंटीमाइक्रोबायल होता हैं और PH बैलेंस बनता हैं जिससे खांसी में काफी आराम मिलता हैं।

ये खांसी ख़त्म करने का तरीका बहुत आसान हैं। आपको एक गिलास पानी गर्म करना हैं, और उसमे 2 चमच्च सेब के सिरके के मिलाने हैं। अब इस सिरके मिले पानी से गरारे करने हैं। अगर आपको सिरके का स्वाद ज्यादा ख़राब लगे तो इसमें थोडा नमक भी मिला सकते हैं।

4. गिलोय का जूस

पुरानी खांसी का देसी इलाज में गियोय का जूस जबरदस्त असर दिखता हैं। गिलोय का जूस पीने से रोग प्रतिरोधक शक्ति बेहतर होती हैं। पित्त, कफ और वता में संतुलन बनाने में भी ये आयुर्वेदिक औषधि मदद करती हैं जिससे खांसी से छुटकारा पाया जाना आसान बन जाता हैं।

गिलोय जूस के घरेलू नुस्खे का असर तुरंत दिखाई नहीं देता पर समय के साथ खांसी में आराम जरुर मिलने लग जाता हैं। सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में 2 चमच्च गिलोय जूस सलकर पिए। इस देसी नुस्खे का सेवन खांसी ठीक होने तक करे।

5. काली मिर्च और शहद

सूखी खांसी का तुरंत इलाज करने में ये घरेलू उपाय बहुत फायदेमंद होता हैं। काली मिर्च को जब शहद साथ सेवन किया जाता हैं तब खांसी का उपचार करने में काफी हेल्प होती हैं। काली मिर्च तासीर में गर्म होती हैं जिससे छाती और गले से बलगम निकालकर सांस ठीक से आने लगती हैं।

300 ml गर्म पानी उबाले और उसमे एक चमच्च काली मिर्च,  2 चमच्च शहद की मिलाकर 15-20 मिनट तक ढक कर रख दे। इस चाय को दिन में 2 बार पिए।

खांसी के घरेलू उपचार के देसी नुस्खे

  1. खांसी के उपचार के लिए शहद को कई खाने की दवाइयों और पीने की सिरप से भी फायदेमंद माना जाता हैं। शहद गले में हुए संक्रमण और सूजन को कम करता हैं। इसे जब दालचीनी और मुलेठी के साथ सेवन किया जाए तो ये खांसी का रामबाण इलाज बन जाता हैं। एक गिलास पानी में एक चौथाई चमच्च शहद और सामान मात्रा में मुलेठी व दालचीनी मिलाये। और इसका सेवन सुबह शाम 2 बार करे।
  2. अमरुद की पत्तियों को इसके एंटीबायोटिक गुणों के लिए जाना जाता हैं जो खांसी में फायदा पहुचाते हैं। इसमें विटामिन c भी होता हैं।240 ml पानी में 2-3 अमरुद की पत्त्या डालकर उबाले और ठंडा होने पर इसे पीले।
  3. एक गिलास दूध में 2-3 लहसुन की कली डालकर उबाले और रात को सोने से पहले पिए। 3-4 दिन में ही आपको खांसी में फायदा महसूस होने लगेगा।
  4.  प्याज़ के लम्बे टुकडो में काटे और उन्हें अपने पैरो के तलवे पर लगाए, और उसके उपर जुराब पहन ले। ये आप रात के समय करे और सुबह ही उन्हें हटाये। 2-3 ऐसा करने से ही फायदा नज़र आने लगेगा।
  5. रसोई में इस्तेमाल होने वाले नमक को पानी में मिलकर उससे गरारे करे। इससे गले में दर्द और खराश में राहत मिलेगी जिससे खांसी ठीक होने में भी मादा मिलेगी।

 

खांसी होने पर क्या नहीं करना चाहिए (परहेज़)

  • खासी होने पर दूध और दूध से बनी चीजो को ना खाए।
  • चिप्स, नमकीन और पैकेटो में बंद दुसरे स्नैक्स नहीं खाने चाहिए।
  • कॉफ़ी और कोल्ड ड्रिंक्स निमे कैफीन होता हैं उनसे परहेज करे।
  • ज्यादा तेल वाले मिर्च मसालेदार खाने मत खाए।
  • खांसी में सिगरेट और बीडी का सेवन बिलकुल ना करे। खांसी में धुम्रपान इसे और गंभीर बना देता हैं।

दोस्तों हमारी ये जानकारी खांसी का देसी इलाज के नुस्खे : Cough Treatment in Hindi? कैसे लगी निचे कमेंट में लिखे। सुखी पुरानी या बलगम वाली खांसी से जुड़े सवाल भी निचे पूछ सकते हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!