Weight Gain दवाई

मोटा होने की 5 टॉप आयुर्वेदिक दवा (टेबलेट कैप्सूल और पाउडर)

मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा : अगर आप दुबले पतले है और वजन बढाने के लिए घरेलू नुस्खे या अन्य उपाय से भी कोई फायदा नहीं हो रहा तो आप आयुर्वेद पर भरोसा कर सकते हैं। वैसे तो मोटा होने के टेबलेट कैप्सूल और अन्य कई तरह की अंग्रेजी मेडिसिन भी मिल जाती हैं। पर हम आपको उनकी बजाय आयुर्वेदिक दवा का सेवन करने की ही सलाह देंगे। इसकी वजह हैं एक तो इनमे जो भी हर्ब इस्तेमाल होती है वो सब नेचुरल होती हैं उनमे केमिकल का इस्तेमाल नहीं होता जिससे उनके साइड इफेक्ट्स भी ना के बराबर होते हैं। इनके नियमित सेवन से भूख बढ़ेगी और खाया पिया शरीर को लगने लगेगा जिससे वजन जल्दी बढाने में मदद मिलती हैं।

Weight बढ़ाने के लिए मिलने वाले कई Steroid और Protein Powder से वजन तो जल्दी बढ़ जाता हैं। पर उनके बंद करने के बाद वजन तेज़ी से गिरने लगता हैं। ऐसा अश्वगंधा जैसे आयुर्वेदिक दवाइयों के साथ नहीं हैं।

दुबला पतला होने के कारण : Underweight Causes in Hindi

वजन बढाने के लिए कोई भी दवाई या नुस्खा करने से पहले वजन कम होने के पीछे वजह जानना जरुरी होता हैं। जिसके बाद अपनी ज़िन्दगी में कुछ बदलाव लाने से और जल्दी मोटा हो पाएंगे। निचे कुछ ऐसे ही कारण दिए गए हैं।

  • ज्यादा शारीरिक कामकाज करना।
  • टेंशन और तनाव में रहना।
  • पाचन तंत्र ठीक न होना जिससे पाचन शक्ति कमज़ोर पद जाती हैं।
  • भूख कम लगना।
  • खानपान में जरुरी पौषक तत्वों की कमी होना।
  • इम्युनिटी कमज़ोर होना।
  • समय पर भोजन ना करना।
  • किसी बीमारी से भी अचानक वजन कम हो जाता हैं।

जाने : मोटा होने के घरेलू उपाय

मोटा होने की दवा : mota hone ki ayurvedic dawa

वजन बढाने और मोटा होने की दवाइया

Mota hone ki Ayurvedic Dawa in Hindi

अब समय आ गया हैं मोटा होने की दवा के नाम, उनकी विशेषता और कीमत (Price) जानने का। डॉक्टर की सलाह, एक्सरसाइज के साथ इन मेडिसिन का सेवन करने से कुछ ही समय में परिणाम मिलने लगेगे।

1. अश्वगंधा (टेबलेट और पाउडर)

अश्वगंधा मोटा होने का पाउडर

मोटा होने के आयुर्वेदिक दवाइयों में जिसका नाम सबसे उपर आता हैं वो हैं अश्वगंधा। इस आयुर्वेदिक औषधि कई ऐसे हर्ब होते हैं जिनसे शरीर की कमजोरी दूर होती हैं और इम्युनिटी बेहतर होती हैं। अश्वगंधा से शरीर को कई अन्य फायदे भी होते हैं इसे Indian Ginseng के नाम से भी जाना जाता हैं। अश्वगंधा पाउडर और पाउडर दोनों में मिल जाता हैं।

एक महीने तक हाई केलोरी डाइट के साथ अश्वगंधा का सेवन करने से 4-5 kg तक वजन बढ़ाया जा सकता हैं। एक गिलास दूध में 2 चमच्च अश्वगंधा पाउडर की मिलाये और उसे सुबह शाम 2 बार पिए। अश्वगंधा पाउडर को आप ऑनलाइन और बाबा रामदेव पतंजलि शॉप से जाकर खरीद सकते हैं।

2. शतावरी

शतावरी मोटा होने का कैप्सूल का नाम

शतावरी प्रेग्नेंट महिलाओ और स्तनपान करने वाली महिलाओ के लिए फायदेमंद होने के लिए जाना जाता हैं। प्रेगनेंसी के अलावा शतावरी के सेवन से मोटा होने में भी काफी मदद मिलती हैं। इस हर्बल औषधि से शरीर में पानी की कमी दूर होती हैं और एक उचित तरल संतुलन बनता हैं। जिसके परिणामस्वरूप पाचन शक्ति में काफी सुधार होता हैं। जिससे भूख भी अच्छी लगती हैं और खाना भी हज़म सही से होता हैं।

कुछ लोगो को ये शिकायत रहती हैं की उन्हें खाना पीना नहीं लगता हैं। उनके लिए शतावरी एक रामबाण मेडिसिन साबित हो सकती हैं। ये भी आपको आसानी से मेडिकल स्टोर या पंसारी की दुकान से मिल जायगी। मोटा होने के लिए खाने के बाद 1-1 शतावरी कैप्सूल 2 बार ले।

3. वसंत कुसुमाकर रस

वजन बढाने की मेडिसिन वसंत कुसुमाकर रस

वसंत कुसुमाकर रस कई तरह की धातुओ और खनिजो से बनी वजन बढाने की पोपुलर आयुर्वेदिक दवा हैं। ये मेडिसिन कई प्रकार की भस्म के मेल से बनी हैं। इसे आप पाउडर और कैप्सूल दोनों में ले सकते हैं। कुछ ही दिनों में एक मजबूत काया पाने के लिए इस नेचुरल औषधि का सेवन किया जाता हैं। शुगर, एसिडिटी और दिल की कई समस्याओ में भी इसे बहुत फायदेमंद माना जाता हैं। वसंत कुसुमाकर रस का सेवन दूध और धी के साथ लिए जाने की सलाह दी जाती हैं।

4. द्राक्षारिष्ट पीने की सिरप

मोटा होने की पीने की दवा द्राक्षारिष्ट

Weight Gain के लिए पीने की दवा में द्राक्षारिष्ट बहुत असरदार होती हैं। इसे पीने से शरीर को ताक़त मिलती हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती हैं। द्राक्षारिष्ट के नियमित सेवन से मेटाबोलिज्म भी अच्छा होता हैं और पित्ता को संतुलित करने का काम भी इससे हो जाता हैं। द्राक्षारिष्ट में मुख रूप से किशमिश, दालचीनी, काली मिर्च, पिप्पली, गुड और नागकेशरा जैसे हर्ब होती हैं। दिन में खाने के दोनों बार 1-2 चमच्च द्राक्षारिष्ट सिरप की ले। गर्भवती महिलाए इस दावा से पहले डॉक्टर से सलाह जरुरी ले।

5. यष्टिमधु पाउडर

मोटा होने की आयुर्वेदिक पतंजलि दवा

भूख कम लगना वजन ना बढ़ने का एक मुख्य कारण होता हैं। यष्टिमधु एक नेचुरल सप्लीमेंट होता हैं जिससे भूख बढती है। और जब भूख ज्यादा लगेगी तो खाना भी अधिक खाया जायगा जिससे कुछ ही दिनों में मोटा होने में हेल्प मिलेगी। इससे स्टैमिना और ताक़त भी बदती हैं जिसे शारीरिक कमजोरी से छुटकारा मिल जाता हैं। यष्टिमधु पाउडर के नियमित सेवन से इम्युनिटी भी बेहतर होती हैं।

 

जल्दी मोटा होने के आयुर्वेदिक टिप्स

  1. उपर बताई किसी भी मोटा होने की मेडिसिन के साथ में एक्सरसाइज करना भी जरुरी हैं। तभी नैचुरली और जल्दी वजन बढेगा।
  2. सोयाबीन, चना और दाल जैसे हाई प्रोटीन युक्त सब्जियों का सेवन खाने में ज्यादा करे।
  3. दालचीनी, लहसुन, लौंग, काली मिर्च और अदरक खाने में कम मात्रा में इस्तेमाल करने से भूख में बढ़ावा मिलता हैं। जिससे weight gain करना आसान हो जाता हैं।
  4. फलो के रस में अनार और केले का रस पीना काफी फायदेमंद होता हैं। नियमित रूप से इन फलो का जूस पीने से शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से आप मजबूत होंगे।
  5. एक नियमित मात्रा में देसी घी खाना शुरू करे। धी आप दूध या सब्जी में डालकर ले सकते हैं।
  6. तनाव मुक्त ज़िन्दगी के साथ में पूरी नींद लेना बहुत जरुरी हैं। रोजाना 8 घंटे जरुर सोए।

दोस्तों आज की हमारी ये वजन बढाने संबधित जानकारी मोटा होने की आयुर्वेदिक दवा :  Weight Gain Medicine in Hindi? कैसे लगी हमें कमेंट्स में जरुर बताए। अगर आपको किसी मोटा होने की कोई टेबलेट, कैप्सूल या पाउडर की जानकारी हैं तो उसे भी शेयर जरुर करे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!