प्रेगनेंसी टेस्ट कब और पीरियड्स के कितने दिन बाद या पहले करे

प्रेगनेंसी टेस्ट पीरियड्स के कितने दिन बाद करे : बहुत से महिलाओ के लिए प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे का निर्णय लेना चिंता का विषय बन जाता हैं। आपसी मिलाप के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी होती हैं और पीरियड्स के कितने दिन पहले या बाद में Pregnancy Test करे ये कुछ सवाल मन में रहते हैं। प्रेगनंट होने पर एक जो मुख्य लक्षण जिसे ज्यादातर महिलाये जानती हैं वो हैं पीरियड्स का ना आना (मिस होना), इसके अलावा भी कुछ ऐसे संकेत होते हैं जिनके आधार पर हम गर्भावस्था का अंदाज़ा लगा सकते हैं। पर सुनिश्चित करने के लिए टेस्ट करना जरुरी होता हैं।

अगर आप प्रेगनंट होने की कौशिश कर रहे हैं तो आपके मन में बस यही रहता हैं की जितना जल्दी हो सके अच्छी खबर मिल जाए। क्या मुझे पीरियड मिस होने का इंतजार करना चाहिए? या फिर पीरियड्स बंद होने से पहले ही प्रेगनेंसी टेस्ट करने जाना जा सकता हैं? ऐसे कुछ सवाल मन में चलते रहते हैं।

जो महिलाये नहीं चाहती की वो गर्भवती हो। किसी भूल की वजह से उन्हें प्रेगनंट होने की सम्भावना लगती हैं उनके लिए भी जल्दी से जानना जरुरी बन जाता हैं। जिसके लिए जल्दी टेस्ट करना एक अच्छा विकल्प होता हैं। पर इसमें एक समस्या हैं ज्यादा जल्दी प्रेगनेंसी टेस्ट हमें कई बार सही रिजल्ट नहीं दिखता हैं। समय से पहले की गयी जांच आपको नेगेटिव रिजल्ट दिखा सकती हैं जबकि आप प्रेगनंट हो। ऐसे में सही समय का पता होना काफी महत्वपूर्ण बन जाता हैं उसी के बारे में हम आगे जानेंगे।

प्रेगनेंसी टेस्ट कब पीरियड्स के कितने दिन बाद करे

प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे

प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे

Pregnancy Test Periods ke kitne din baad kare

 

प्रेगनेंसी टेस्ट काम कैसे करते हैं पहले वो जान लेते हैं। टेस्ट में प्रेगनेंसी हारमोंस HCG (human chorionic gonadotropin) के पेशाब में होने ना होने के आधार पर रिजल्ट निकाला जाता हैं। अधिकतर टेस्ट में पेशाब के जरिये जांच की जाती हैं। अगर पेशाब में नार्मल से अधिक HCG हारमोंस मौजूद हैं तो प्रेगनेंसी रिजल्ट पॉजिटिव आता हैं यानी की वो गर्भवती हैं। चलिए अब जानते हैं टेस्ट करने का सही दिन और समय क्या हैं।

प्रेगनेंसी टेस्ट पीरियड्स के कितने दिन पहले या बाद करे

Periods Miss होने के बाद का समय Pregnancy Test के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता हैं। वैसे तो हम पीरियड्स से पहले भी टेस्ट कर सकते हैं। पर उसके परिणाम ज्यादा सटीक नहीं होते। मासिक धर्म आना बंद होने के बाद टेस्ट करने से किसी तरह का संदेह नहीं बचता। इसलिए अगर आप गर्भवती होना चाहते हो तो अपने मासिक धर्म के दिनों का ध्यान रखना जरुरी हो जाता हैं।

आमतौर पर जिस डेट (expected date) को आपके पीरियड शुरू होते हैं पीरियड्स मिस होने पर आप उस दिन या उसके 2-3 दिन बाद टेस्ट कर सकते हैं। अगर आपको पहले से अनियमित माहवारी यानी समय पर पीरियड्स ना आने की प्रॉब्लम रहती हैं तो नार्मल पीरियड बंद होने के दिन तक इंतजार करे उसके बाद ही टेस्ट करे। उधारण के लिए अगर आपका मासिक धर्म चक्र 30 से 35 दिन तक का रहता हैं और आपको समय पर माहवारी ना आने की समस्या रहती हैं तो 36वे या 37वे दिन प्रेगनेंसी टेस्ट करे।

एक स्टडी से ये निकलकर सामने आया हैं 100 में से 10-20 महिलाये जो पीरियड मिस होने के ठीक अगले दिन प्रेगनेंसी टेस्ट करती हैं उनका प्रेगनेंसी टेस्ट रिजल्ट पॉजिटिव नहीं आता हैं जबकि वो प्रेग्नेंट होती हैं। इसलिए ज्यादा पक्के रिजल्ट के लिए थोडा समय और रुकना ज्यादा सही माना जाता हैं।

दिन के किस समय प्रेगनेंसी टेस्ट करना सही हैं?

टेस्ट दिन में किस समय किया जाए ये एक हद्द तक काफी महत्वपूर्ण हो सकता हैं। सबसे सटीक रिजल्ट पाने के लिए सुबह के समय प्रेगनेंसी टेस्ट करना सबसे सही होता हैं। खासकर अगर आप Periods Late होने से पहले टेस्ट कर रहे हैं तो आपको सुबह के समय ही टेस्ट करना चाहिए।

घर पर प्रेगनेंसी किट से जब हम टेस्ट करते हैं तो पेशाब (यूरिन) में HCG हारमोंस के आधार पर रिजल्ट निर्धारित होता हैं। सुबह के समय के पेशाब में इस हारमोंस की उपस्थिति ज्यादा साफ़ होती हैं। और उसकी मात्रा थोड़ी ज्यादा होती हैं जिससे अगर कोई प्रेग्नेंट है तो वो रिजल्ट में जल्दी सामने आता हैं।

हालाँकि अगर पीरियड लेट हो चुके हैं तो दिन के समय में सही परिणाम मिल जाते हैं। क्योंकि पीरियड्स मिस होने से पहले उतना क्लियर HCG हार्मोन का होना नहीं होता इसलिए ऐसे में सुबह के समय ही टेस्ट करे। विशेषकर तब जब आप पानी ज्यादा पी रहे हो।

पीरियड्स मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट

अगर आपको उम्मीद हैं आप गर्भवती हो सकती हैं तो आप पीरियड्स लेट होने से पहले भी प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकते हैं। पर अधिकतर जल्दी किये गए टेस्ट में प्रेगनेंसी की जांच के परिणाम भर्मित करने वाले होते हैं। पीरियड्स मिस होने से प्रेगनेंसी के लक्षण भी उतने दिखाई नहीं देते। कई बार होते प्रेग्नेंट हैं पर जल्दी किये गए टेस्ट में रिजल्ट नेगेटिव आ जाता हैं।

पीरियड से 4-5 दिन पहले तक किये टेस्ट के परिणाम कितने सही होंगे वो Luteal Phase पर निर्भर करते हैं। ज्यादातर टेस्ट Luteal Phase को 14 दिन का मानते हैं। जो ओवुलेशन और पीरियड के बीच का समय होता हैं। Luteal Phase हर किसी का अलग अलग हो सकता हैं। जिन महिलाओ का Luteal Phase अधिक लंबा होता हैं उनके पीरियड से पहले किये गए रिजल्ट के सही आने की संभावना अधिक रहती हैं। फिर भी इतने जल्दी किये टेस्ट भरोसेमंद नहीं होता।

पीरियड से पहले प्रेगनेंसी के लक्षण

अगर आपको निचे दिए लक्षण दिखाई दे रहे है तो आप प्रेगनेंसी टेस्ट के लिए जल्दी भी जा सकते हैं।

  • स्तनों में कठोरता आना
  • सुबह के समय उलटी करने का मन होना
  • थकान रहना
  • हल्की बिल्डिंग होना
  • पेट में दर्द होना जो मासिक धर्म के दौरान हुए दर्द जैसा प्रतीत हो।

हिंदी में हेल्थ का ये इस लेख प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे : Pregnancy test Periods ke kitne din baad kare? कैसा लगा कमेंट्स में हमे जरुर बताए। ‘पीरियड्स के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी होती हैं‘ से संबधित सवाल भी निचे पूछे जा सकते हैं।

 

Leave a Reply

error: Content is protected !!