घरेलू नुस्खे पीरियड्स

पीरियड्स जल्दी लाने के 10 सुरक्षित घरेलू नुस्खे और उपाय

पीरियड जल्दी लाने के उपाय : Periods (MC) को माहवारी और मासिक धर्म के नाम से भी जाना जाता हैं। बहुत सी महिलाओ का ये सवाल रहता हैं की पीरियड लेट या ना आने पर क्या करे? अनियमित माहवारी की समस्या 10 साल की लड़की से लेकर 50 साल की महिला को हो सकती हैं। पीरियड का समय महिलाओ  लिए असहजता भी लाता हैं। पेट दर्द, कमर दर्द और पेट में सूजन जैसे प्रॉब्लम का भी उन्हें सामना करना पड़ता हैं। भिन्न-भिन्न औरतो में मासिक धर्म का समय अलग होता हैं। जो आम तौर पर 3-7 दिन का होता हैं और हर महीने आता हैं। अस्वस्थ जीवनशैली, हार्मोन्स असंतुलन और खानपान की गलत आदतों से पीरियड मिस होने की समस्या आ सकती हैं। चलिए जानते हैं अनियमित माहवारी का इलाज और पीरियड लाने के घरेलू नुस्खे।

महिलाओ को हर महीने माहवारी आना एक प्राकर्तिक प्रक्रिया हैं। स्वस्थ रहने के लिए इनका समय पर आना जरुरी होता हैं। और जब ये अनियमित हो जाए तो कई तरह की हेल्थ संबधित समस्या आने लगती हैं। मूड चिडचिडा रहना, कमर के पिछले हिस्से में दर्द और स्तनों में कठोरता आना ऐसे कुछ लक्षण हैं। महिला जब प्रेग्नेंट होती हैं तब सबसे पहला लक्षण पीरियड्स ना आने के रूप में ही सामने आता हैं। इसलिए अगर आप प्रेगनेंसी की उम्मीद में हैं तो पीरियड लेट होने पर पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कर ले। उसके बाद ही निचे के उपाय करे।

पीरियड ना आने के कारण

  • प्रेगनेंसी शुरू होना
  • हारमोंस में असंतुलन रहना
  • गर्भाशय में कोई विकार आना
  • शरीर में पौषक तत्वों की कमी हो जाना
  • अचानक वजन बढ़ना या कम होना।
  • ज्यादा एक्सरसाइज या शारीरिक काम करना
  • गर्भ निरोधक गोलियों का अधिक सेवन करना

पीरियड लाने के घरेलू नुस्खे और उपाय

Periods jaldi lane ke Upay in Hindi

कम उम्र की लडकियों में जब पीरियड आने शुरू होते हैं तो शुरुआत में अनियमित माहवारी की प्रॉब्लम ज्यादा होती हैं। पीरियड थोडा बहुत आगे पीछे होना घबराने के बात नहीं हैं। अगर ये कई महीने तक लगातार होने लगे या लम्बे समय से ना आ रहे हो तो लापरवाही करना सही नहीं हैं। तो चलिए जानते हैं इससे छुटकारा पाने के घरेलू उपाय।

1. एलो वेरा

अनियमित माहवारी के लिए एलो वेरा असरदार घरेलू नुस्खा हैं। एलो वेरा की पत्तियों के बीच में पीले रंग का एक पदार्थ होता हैं जो पीरियड की समस्या में फायदा पहुचाता हैं। इस होम रेमेडी से हारमोंस में भी संतुलन बनता हैं जिससे पीरियड सही समय पर आने में मदद मिलती हैं।

एलो वेरा में विटामिन a, c, e, b12 के साथ में फोलिक एसिड और एमिनो एसिड होता हैं। इससे महिलाओ की प्रजनन क्षमता भी बढती हैं। एलो वेरा की एक पत्ती लेकर उसे 2 भागो में काट ले और उन्हें भीच कर उनसे एलो वेरा जेल निकल ले। इस जेल में एक चमच्च शहद की मिलाये और उसका सेवन सुबह खाली पेट करे। लेट पीरियड का जड़ से इलाज के लिए 1-2 महीने तक नियमित ऐसा करे।

2. अधपका पपीता

पीरियड मिस (ना आने) होने पर क्या करे? इस सवाल का जवाब आपको पपीते में मिल सकता हैं। पपीते में कई ऐसे पौषक तत्व होते हैं जो गर्भाशय की मांसपेशियों के संकुचन में मदद करते हैं जिससे मासिक धर्म आना शुरू होने में मदद मिलती हैं। इससे मिलने वाले कैरोटीन एस्ट्रोजन हारमोंस बढ़ाते हैं जिसे रिजल्ट के रूप में पीरियड आने में सहायता मिलती हैं।

पपीते का सेवन आप कच्चा या जूस बनाकर दोनों तरीके से कर सकते हैं। लगभग 200 ml पपीते का जूस या आधा कटोरा कटा पपीता दिन में 2 बार खाए। पीरियड्स के बीच में ये नुस्खा ना करे।

3. विटामिन c युक्त खाने

विटामिन c की अधिक मात्रा शरीर में जाने से एस्ट्रोजन लेवल बढ़ जाता हैं। महिलाओ की बॉडी में बढ़ा हुआ एस्ट्रोजन लेवल गर्भाशय को उत्तेजित करता हैं। जिसके परिणामसवरुप पीरियड्स की ब्लीडिंग शुरू हो जाती हैं। इसके साथ प्रोजेस्टेरोन के स्तर में कमी लता हैं जिससे mc आने में हेल्प मिल जाती हैं।

संतरे, मौसमी जैसे स्वाद खट्टे फलो और ब्रोकोली, टमाटर में विटामिन c ज्यादा होता हैं। जिन औरतो को ये समस्या है वो इन खानों को डाइट में शामिल करे।

4. अंगूर का रस

सही टाइम पर मासिक धर्म लाने में अंगूर एक कारगर घरेलू उपाय हैं। अंगूर में पोत्ताशियम, पेक्टिन, कॉपर, विटामिन्स और फाइबर उच्च मात्रा में पाए जाते हैं। जिनके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। अंगूर का रस पीने से शरीर से हानिकारक टॉक्सिक भी बाहर निकलते हैं।

पीरियड्स शुरू होने से 2 हफ्ते पहले से अंगूर का जूस पीना शुरू करे दे। इससे माहवारी ना आने की संभावना काफी हद्द तक ख़त्म हो जाती हैं।

5. अदरक

पीरियड टाइम पे लाने के सबसे असरदार उपाय में अदरक का नाम भी उपर आता हैं। अदरक में कई ऐसे औषधीय गुण मौजूद होते हैं जो मासिक धर्म लाने में मदद करते हैं। अदरक तासीर में गर्म होता हैं। इसके सेवन से गर्भाशय में गर्मी पैदा होती है। पर इसके सेवन से एसिडिटी की समस्या भी हो सकती हैं।

एक बड़े कप पानी में आधा चमच्च पीसी हुई अदरक डालकर 5 मिनट तक उबाल दे। थोडा ठंडा होने के बाद एक चमच्च शहद मिलकर इसे पीले। दिन में 2 बार सुबह शाम इस अदरक की चाय का सेवन करे।

 

पीरियड्स लाने के आयुर्वेदिक नुस्खे

  1. अजमोद (parsley) को सेकड़ो सालो से पीरियड्स लाने की दवा के रूप में लिया जाता रहा हैं। अजमोद की पतियों को सुखाए और उसकी 3-3 ग्राम की 2 खुराक बनाए जिसे दिन में 2 बार सुबह शाम लेना हैं। 3 ग्राम अजमोद की सुखी पत्ती एक गिलास पानी में उबालकर, ठंडा करके लेनी हैं।
  2. एक गिलास गर्म दूध में आधा चमच्च दालचीनी पाउडर मिलकर पिए। इससे माहवारी लाने के साथ में इन दिनों में होने वाले दर्द में भी राहत मिलेगी।
  3. एक चमच्च हल्दी पाउडर एक गिलास पानी में डालकर उबाले और दिन में 2 बार इसे पिए। पीरियड डेट से 10 दिन पहले ये आयुर्वेदिक नुस्खा करे।
  4. गाजर में केरोटीन होता हैं जिससे अनियमित माहवारी के उपचार में मदद मिलती हैं। दिन में 2-3 बार गाजर का जूस पिए।
  5. माहवारी आने से 15 दिन पहले आनार का जूस दिन में 2 बार पिए।

 

 सही समय पर पीरियड्स आने के उपाय

  • सभी पौषक तत्वों से भरपूर डाइट ले। फलो और हरी सब्जियों को अपने खाने में शामिल करे।
  • मानसिक तनाव पीरियड ना आने का एक कारण होता हैं। मन शांत रखने और टेंशन कम करने के लिए योगा करे।
  • अत्याधिक शारीरिक काम काज या एक्सरसाइज ना करे। हलके फुल्के व्यायाम या योगा करे।
  • डेली एक गिलास गन्ने का जूस पीने से भी पीरियड आने में मदद मिलती हैं।
  • दही खाने से भी माहवारी नियमित होने में हेल्प होती हैं।

मित्रो हिंदी में हेल्थ की ये जानकारी पीरियड्स आने के घरेलू नुस्खे उपाय: Period Problem in Hindi? कैसे लगी, निचे कमेंट्स में बताए। माहवारी (Menstruation) से जुड़े सवाल भी बेजिझक पूछे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!