प्रेगनेंसी

जल्दी प्रेग्नेंट होने का सही समय, तरीके और 5 घरेलू उपाय

शादी होने के बाद हर नवविवाहित जोड़ा चाहता हैं जल्द ही उनके घर ने नन्हा मेहमान आ जाए। प्रेग्नेंट होने के लिए कुछ बातो का ध्यान रखना जरुरी होता हैं जिनके जाने बिना गर्भवती होने में कई समस्याए आ सकती हैं। प्रेग्नेंट होने का सही समय, तरीका और कुछ ऐसे उपाय आज हम आपको बताएँगे जिनसे आपको जल्दी गर्भवती होने में काफी मदद मिलेगी।

आमतौर पर शादी के 1 साल के अंदर 10 महिलाओ में से 8 ऐसी महिलाए प्रेग्नेंट हो जाती हैं जो नियमित रूप से सम्बन्ध बनाते हैं। वही शादी के 2 साल के अंदर हर 10 में से 9 महिलाए औसतन गर्भवती हो जाती हैं। आजकल के अस्वस्थ खानपान और ख़राब जीवनशैली की वजह से महिलाओ में बांझपन और प्रेग्नेंट ना होने की प्रॉब्लम बढती जा रही हैं। अगर सही समय पर सही तरीके से प्रयास किये जाए तो प्रेग्नेंट होने में काफी मदद मिल सकती हैं। तो चलिए जानते हैं प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करे।

प्रेग्नेंट होने के उपाय : Pregnant hone ke upay tarike

प्रेग्नेंट होने के लिए सही समय, तरीका और उपाय

जैसा की हम सब जानते हैं प्रेगनेंसी के लिए नियमित समय अन्तराल में सम्बन्ध बनाने जरुरी होते हैं। नियमित रूप से मतलब हर 2-3 दिन में शारीरिक सम्बन्ध बनाने से प्रेग्नेंट होने की सम्भावना ज्यादा रहती हैं। प्रेग्नेंट होने के लिए सेक्स करने का सही समय की बात की जाए तो वो होता हैं ओव्यूलेशन पीरियड। अगर ओव्यूलेशन पीरियड के दौरान सेक्स किया जाए तो प्रेगनेंसी की सम्भावना सबसे अधिक होती हैं।

ओव्यूलेशन पीरियड 4-6 दिन का होता हैं। इन दिनों में से एक दिन ऐसा होता हैं जब गर्भाशय में अंडा निकलता हैं जिससे पुरुष के स्पर्म का मेल होने पर ही प्रेगनेंसी होती हैं। जो महिलाए चाहती हैं वो जल्दी प्रेग्नेंट हो जाए और बच्चे का परम सुख पाए उन्हें सबसे पहले तो अपने ओव्यूलेशन पीरियड का पता होना चाहिए।

ओव्यूलेशन क्या होता हैं?

ओव्यूलेशन होता क्या हैं और अपना ओव्यूलेशन पीरियड कैसे पता करे? ये वो समय होता हैं जब महिलाओ के अंडाशय से अंडा निकलता हैं और जब शारीरिक सम्बन्ध बनाए जाते हैं तो पुरुषो का शुक्राणु इस अंडे से निषेचन करता हैं। ये प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही महिला प्रेग्नेंट होती हैं। ये अंडा 24-48 घंटे तक ही जीवित रहता हैं। इसलिए जरुरी हैं अपने ओव्यूलेशन के सही समय का पता हो ताकि प्रेग्नेंट होने में आसानी हो।

अपने ओव्यूलेशन का कैसे पता करे

अपना ओव्यूलेशन समय जानने के लिए आपको अपने पीरियड्स का पूरा ध्यान रखना होगा। अपने पीरियड कितने दिनों तक चलते हैं और कितने समय बाद पीरियड शुरू होते हैं, ये सब बाते आपको सही से पता होनी चाहिए। ओव्यूलेशन आमतौर पर अगले पीरियड शुरू होने से 10-16 दिन पहले होता हैं।

मान के चलते हैं आपके पीरियड हर महीने 25 तारीख़ हो आते हैं तो आपका ओव्यूलेशन समय 9-15 तारीख के बीच में ही होना चाहिए। अपने ओव्यूलेशन का सटीक रूप से पता करने के लिए आप निचे दिए Ovulation calculator का इस्तेमाल कर सकते हैं :

1. ओव्यूलेशन कैलकुलेटर पर जब आप जायेंगे तो आपको वहा पर एक कैलेंडर दिखाई देगा जिसमे से आपको अपने आखिरी पीरियड शुरू होने के पहले दिन को चुनना हैं।

अपने ओव्यूलेशन का पता कैसे करे

2. उसके आगे आपको अपनी Average cycle Length यानी पीरियड अवधि सेट करनी हैं। पीरियड अवधि मतलब आपके पीरियड्स के बीच में कितने समय होता हैं। ये आमतौर पर 28-31 दिन का होता हैं।

3. पीरियड अवधि सेट करने के बाद आपको निचे दिए गए Calculate बटन पर क्लिक करना हैं।

4. अब आपके सामने Approx Ovaulation में एक तारीख दिखेगी जो आपके अगला ओव्यूलेशन का समय होना चाहिए। यानी इस दिन अगर आप सेक्स करेंगे तो प्रेग्नेंट होने के चांस सबसे ज्यादा होंगे।

प्रेग्नेंट होने के लिए सही समय, तरीका

5. उसके आगे Fertile Window आयगा जिसमे 5-6 दिन का समय होगा जिसे Fertile Window कहते हैं उन्ही दिनों में ओव्यूलेशन भी होता हैं। प्रेगनेंसी के लिए इन दिनों में सम्बन्ध बनाने चाहिए। अंत में आपके अगले पीरियड की तारीख होगी।

प्रेग्नेंट होने का तरीका और सही पोजीशन

प्रेग्नेंट होने के लिए सबसे बेस्ट पोजीशन क्या होनी चाहिए? इस सवाल का कोई सही जवाब नहीं हैं। ऐसे कोई ख़ास पोजीशन नहीं होती जिससे गर्भ ठहरने की संभावना ज्यादा हो। हर वो पोजीशन सही हैं जिसमे स्पर्म सही से योनी के अंदर चला जाए और जिससे वो ग्रीवा के माध्यम से अंडे से निषेचित हो पाए। जिसके बाद प्रेगनेंसी होती हैं।

हालाँकि कुछ लोगो का मानना है सेक्स के कुछ देर कमर के निचे तकिया लगाना और टाँगे मोड़कर कुछ समय तक लेटने से प्रेग्नेंट होने के चांस काफी बढ़ जाते हैं। ऐसा इसलिए सही माना जाता हैं ताकि वीर्य बाहर न निकले।

प्रेग्नेंट होने के लिए टिप्स और घरेलू उपाय

  1. जो लोग संतान चाहते हैं उन्हें धुम्रपान से बिलकुल परहेज़ करना चाहिए। पुरुषो और महिलाओ दोनों में ही धुम्रपान प्रजनन क्षमता को घटाता हैं। सिगरेट और बीडी में निकोटिन और कार्बन मोनोऑक्साइड जैसे केमिकल होते हैं जिनसे प्रेगनेंसी में प्रॉब्लम आती हैं। इसके अलावा शराब का सेवन भी करना प्रेगनेंसी में बाधा पहुचाने का काम करता हैं।
  2. महिलाओ के लिए एक सही वजन होना भी प्रेगनेंसी की संभावना को बढ़ा देता हैं। ज्यादा मोटी या पतली महिलाओ को गर्भवती होने में नार्मल वजन की महिलाओ के मुकाबले अधिक समय लगता हैं।
  3. हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए एक संतुलित डाइट लेना भी काफी जरुरी होता हैं। प्रेग्नेंट होने के उपाय करने के साथ में महीने में कम से कम एक बार फोलिक एसिड जरुर ले। इसके अलावा विटामिन बी युक्त खानों के साथ हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन जरुर करे।
  4. जब आप प्रेग्नेंट होना चाहते है उससे काफी समय पहले तक गर्भ निरोधक दवाओ का सेवन न करे। कुछ लोगो शादी के शुरुआत में बच्चा नहीं चाहते जिसके लिए वो गर्भ निरोधक दवाइयों लेते हैं। ऐसे मेडिसिन का असर ओव्यूलेशन पर पड़ता हैं जो सेवन के काफी दिनों बाद तक भी रहता हैं।
  5. अगर आप तनाव में ज्यादा रहते है तो प्रेग्नेंट होने में मुश्किलें आयगी। इसलिए जो लोग बच्चे का प्लान कर रहे हैं वो जितना हो सके तनाव से दूर रहे। तनाव दूर करने के लिए योगा और एक्सरसाइज करना शुरू कर दे।

दोस्तों प्रेगनेंसी को लेकर आज के ये जानकारी प्रेग्नेंट होने के उपाय तरीके : How to get Pregnant in Hindi? आपको फायदेमंद लगे तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर जरुर करे। गर्भावस्था से संबधित अपने सवाल भी aap

Leave a Comment