लक्षण शुगर

शुगर के 15 शुरूआती लक्षण : Type 1, 2 Diabetes Symptoms in Hindi

शुगर की बीमारी एक आम समस्या बन गयी हैं जो बूढों, जवानों और बच्चो तक को चपेट में ले रही हैं। शुगर को डायबिटीज और मधुमेह के नाम से भी जाना जाता हैं। ये एक मेटाबोलिज्म विकार है जिसमे शरीर में ब्लड शुगर (ग्लूकोस) की मात्रा बढ़ जाती हैं। हमारे शरीर को किसी भी काम को करने के लिए एनर्जी की आवश्यकता पड़ती हैं जो ग्लूकोस से मिलती हैं। बॉडी में इन्सुलिन नाम का हार्मोन बनता हैं जो हमारे द्वारा जो खाया जाता हैं उसे ग्लूकोस में परिवर्तित करता रहता हैं। शुगर ऐसे अवस्था हैं जिसमे या तो इन्सुलिन कम बनता हैं या बिलकुल नहीं बनता जिससे ब्लड शुगर का संतुलन बिगड़ जाता हैं। आज हम जानेंगे शुगर के शुरूआती लक्षण : Diabetes Symptoms in Hindi.

शुगर के लक्षण : sugar ke lakshan Symptoms in Hindi

शुगर की बीमारी 2 तरह की होती हैं : Type of Diabetes in Hindi

  • टाइप 1 डायबिटीज : इस तरह का शुगर बच्चो को होता हैं। 20 साल से कम उम्र के किशोर और बच्चो को ये मधुमेह का रोग होता हैं। जिनको ये होता हैं उनका इम्युनिटी सिस्टम उन बीटा कौशिकाओ को ख़त्म करना शुरू आकर देते हैं जो इन्सुलिन का निर्माण करते हैं। टाइप 1 मधुमेह का इलाज इन्सुलिन इंजेक्शन से किया जाता हैं।
  • टाइप 2 डायबिटीज : टाइप 2 मधुमेह ज्यादा उम्र के महिलाओ और पुरुषो में पाया जाता हैं। इस टाइप की डायबिटीज में ब्लड शुगर की मात्रा काफी बढ़ जाती हैं। कैशिकाए इन्सुलिन के प्रति अस्वेदंशील या प्रतिरोधक बन जाती हैं। इस शुगर को कण्ट्रोल करने के लिए कई तरह की दवाइया मिल जाती हैं।

शुगर के लक्षण : Type 2 Diabetes Symptoms in Hindi

शुगर से पीड़ित लोगो में से 90% को टाइप 2 शुगर होता हैं। टाइप 2 मधुमेह धीरे धीरे बढ़ता हैं और शुरुआत में लक्षण काफी कम दिखाई देते हैं। जिसकी वजह से जायदातर लोगो में शुरूआती लक्षणों को पहचानना काफी मुश्किल होता हैं। निचे कुछ ऐसे शुगर के शुरूआती लक्षण दिए हैं जिनसे इस बीमारी को पहचान कर कण्ट्रोल किया जा सकता हैं।

1. बार बार पेशाब आना

टाइप 2 डायबिटीज में ब्लड शुगर काफी बढ़ जाता हैं जिसे किडनी पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकालने की कौशिश करता हैं। जिसके रिजल्ट में किडनी यूरिन का निर्माण ज्यादा करती हैं और बार बार पेशाब करने जाना पड़ता हैं। ऐसे में यूरिन इन्फेक्शन की संभावना भी बढ़ जाती हैं। ये देखा गया हैं जिन लोगो को शुगर की बिमारी होती हैं उन्ही यूरिन इन्फेक्शन होने के संभावना नार्मल लोगो के मुकाबले दुगुनी होती हैं।

2. भूख ज्यादा लगना

भूख ज्यादा लगना शुगर के लक्षणों में दे एक हैं। शुगर के मरीजो को खाने से पर्याप्त एनर्जी नहीं मिल पाती। जब हम कुछ भी खाते पीते हैं हमारा पाचन तन्त्र उस खाने को तोड़ कर ग्लूकोस में बदल देता हैं। पर जब शुगर होता हैं तो पाचन तन्त्र ग्लूकोस का निर्माण पर्याप्त मात्रा में नहीं कर पाता। जिसे शरीर को पूरी एनर्जी नहीं मिल पाती जिसकी वजह से भूख अधिक लगती हैं।

3. धुंधला दिखाई देना

खून में जब शुगर बढ़ जाता हैं तो वो आँखों की छोटी रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुचाता हैं जिससे धुंधले दिखाई देने की समस्या आ सकती हैं। ऐसा एक आँख में या दोनों आँखों में हो सकता हैं। और जब लम्बे समय तक शुगर का उपचार ना किया जाए और ये बढ़ता जाए तो आँखों में ये नुकसान और बढ़ सकता हैं और हमेशा के लिए रौशनी खो देने तक की नौबत आ सकती हैं।

4. हाथ पैरो में दर्द और सुन्नपन रहना

हाई ब्लड शुगर खून के दौरे को भी प्रभावित करता हैं जिससे नसों में नुकसान होता हैं। टाइप 2 मधुमेह से पीड़ित लोगो को हाथ पैरो में झुनझुनाहट, सुन्नपन और दर्द की शिकायत रहती हैं। 25 साल से अधिक उम्र के महिलाओ और पुरुषो में ऐसा ज्यादा देखा गया हैं। अगर समय रहते Diabetes Treatment शुरू नहीं किया जाता हैं तो ये समस्या गंभीर रूप ले लेती हैं।

5. घाव भरने में समय लगना

जब हमारे शरीर में कोई चोट लगती हैं और घाव बन जाता हैं तो हमारी बॉडी उसे खुद ही ठीक कर लेती हैं। घाव भरने में अच्छा ब्लड सर्कुलेशन का अहम रोल होता हैं। शुगर बढ़ने पर खून के दौरे का संतुलन बिगड़ जाता हैं और नसों में भी नुकसान होता हैं जिससे कुछ दिनों में जो घाव ठीक हो जाना चाहिए उसे ठीक होने में महीनो लग जाते हैं। जल्दी घाव ठीक ना होना मधुमेह के लक्षण होता हैं।

6. प्यास अधिक लगना

शुगर में हानिकारक टॉक्सिक बाहर निकालने के लिए किडनिय पेशाब ज्यादा बनती हैं जिससे शरीर में पानी की कमी होती। पानी की कमी होने से खुस्की आती हैं और प्यास ज्यादा लगती हैं। अगर आपको पानी पीते रहने के बाद भी प्यास लगती रहती हैं तो ये एक सुगर होने का लक्षण हो सकता हैं।

7. यीस्ट संक्रमण (खुजली)

पेशाब और खून में शुगर बढ़ना यीस्ट बैक्टीरिया को बुलावा देता हैं। शुगर यीस्ट की खुराक होती हैं जिससे यीस्ट इन्फेक्शन होने का खतरा भी बढ़ जाता हैं। यीस्ट शरीर के नर्म और गर्म हिस्से में ज्यादा फैलता हैं। खासकर स्किन के मुलायम भागो, बगल और यौन अंगो में खमीर संक्रमण होने की संभावना ज्यादा रहती हैं।

टाइप 1 डायबिटीज (शुगर) के आम लक्षण

टाइप 1 शुगर काफी दुर्लभ ही होता हैं। शुगर के मरीजो में से 5% ही टाइप 1 मधुमेह से पीड़ित होते हैं। अफ्रीका और अमरीका में रहने वाले लोगो को ये शुगर ज्यादा होता हैं। निचे कुछ इस तरह के मधुमेह के लक्षण दिए गए हैं।

  • कमजोरी और थकान काफी ज्यादा रहना।
  • ज्यादा शुगर होने से पेशाब बार बार जाना पड़ता हैं जिसे खुस्की ज्यादा रहती हैं।
  • जी मिचलाना और उलटी का मन होना
  • सही खाने पीने के बावजूद वजन तेज़ी से कम होना
  • शरीर का तापमान कम रहना
  • किसी भी चोट या घाव का जल्दी ठीक ना होना
  • लडकियों के पीरियड्स का अनियमित होना
  • ब्लड प्रेशर कम रहना

अगर किसी को उपर बताए शुगर  (डायबिटीज)के लक्षण किसी को महसूस हो तो बिना देरी लिए डॉक्टर से मिले और शुगर की जांच कराए। समय पर शुगर का इलाज करने से काफी हद्द तक इस बीमारी से रिकवर किया जा सकता हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!